Sponsors
loading...
अँधेरी रात और चूत का साथ

अँधेरी रात और चूत का साथ

हाय दोस्तों कैसे है आप सभी ? मैं आपका दोस्त कुनाल अग्रवाल आपके सामने अपनी कहानी लेकर हाज़िर हूँ | मैं रतलाम का रहने वाला हूँ लेकिन फिलहाल तो बहुत दिनों से मुंबई में हूँ और मज़े मार रहा हूँ | मेरे पापा रतलाम में सुनार है और हमारे यहाँ पैसे की कोई कमी नहीं है | मैं मुंबई पढ़ाई करने के लिए आया था लेकिन मैंने पढ़ाई छोड़ कर बहुत कुछ किया जिसमें से एक किस्सा आज मैं आपको बताने जा रहा हूँ | पहले मैं थोडा अपने बारे में भी बता दूँ मेरी उम्र 20 साल है और मैं कॉलेज स्टूडेंट हूँ | कद सही है शकल ठीक ठाक लेकिन कमीना बहुत हूँ | तो आओ कुछ समय पहले की दुनिया मैं चलते है |

ये बात है एक महीने पहले की जब मेरा बर्थडे था और हम पार्टी करने एक पब में गए थे | हम सबने ने दारू पी और नाच रहे थे तभी मेरा एक दोस्त एक लड़की से गले मिलने लगा और बात करने लगा | मैं तो पीके नाच रहा था फिर जब मैं थोड़ी देर बाद जाकर बैठा तो उसने मुझे उस लड़की से मिलवाया | उसने कहा कुनाल मेरी दोस्त से मिलो आशी | उसने मुझे हाँथ मिलाया और कहा हैप्पी बर्थडे कुनाल और मेरे गले लग गई | मैं एक पल के लिए खो गया और सोचने लगा कि भाई ये क्या हुआ ? लेकिन जो भी हुआ अच्छा लगा | फिर उसने कहा यार मुझे भी ट्रीट चाहिए और मुझे ट्रीट देने पड़ी और मैं कर भी क्या सकता था | मैं उसको लेकर काउंटर पर गया और थोड़ी देर में मेरे दोस्तों का फ़ोन आया भाई हम सब निकल रहे है तू आ जाना रूम में मिलते है और इतना बोलकर सब भोसड़ी वाले दोस्त चले गए | अब इधर मैं अकेला लड़की के साथ और वो भी अकेली और सबसे बड़ी बात दोस्तों, वो साली 1500 की दारु पी गई मतलब फ्री का माल जितना मिले लूट लो बहनचोद | दारु पीने के बाद उसने कहा चलो डांस करते है और हम डांस फ्लोर पर जाके नाचने लगे | वो नाचते नाचते मेरे बहुत पास आ गई तो मैंने उसकी कमर में हाँथ डाला और उसे अपने से चिपका के डांस करने लगा |

वो भी बिलकुल पूरे मज़े लेकर नाचती रही और फिर मैंने थोड़ी हिम्मत की और उसकी गांड पर हाँथ रख दिया | उसने मेरी तरफ घूर के देखा और एक आँख उठाके पूछा क्या ? हम्म क्या चाहिए बर्थडे बॉय | तो मैंने उसके कान में कहा बर्थडे गिफ्ट तो उसने पूछा और तुम्हें गिफ्ट में क्या चाहिए ? तो मैंने फिर से उसके कान में कहा तुम और उसकी गर्दन पर किस कर दिया | उसकी आँखों में थोड़ी हवस दिखने लगी थी और मैं उसकी गांड पर हाँथ फिराए जा रहा था तभी उसने कहा मेरी जगह पर चलोगे या मुझे कहीं लेकर जाओगे ? तो मन में लड्डू फूटने लगे मेरे जिस दोस्त ने मुझे उससे मिलवाया था मैंने उसको बहुत दुआएँ दी दिल से और अपनी किस्मत का शुक्रिया अदा किया | फिर मैंने उससे कहा मेरे रूम पर तो दोस्त होंगे तुम्हारे पास कुछ, तो उसने कहा चलो मेरे साथ | वो मुझे अपनी दोस्त के फ्लैट लेकर गई और कहा इसकी चाबी मेरे पास ही रहती है और ये बहुत दिनों से बंद भी है आओ अन्दर चलते है | उसने ताला खोला और हम अन्दर गए और उसने लाइट चलो की वहां पे सब कुछ ढका हुआ था |

फिर उसने दरवाज़ा बंद किया और मुझे अन्दर लेकर गई | अन्दर एक बड़ा सा बिस्तर था जिसपे चादर ढकी थी उसने वो चादर हटाई और बिस्तर पर बैठ गई और मुझे अपने पास बैठने का इशारा किया |

हम दोनों एक दूसरे को देख रहे थे तो मैंने उसको किस कर दिया | उसने मुझे धक्का दिया तो मैंने पूछा मैं तुम्हें जानती भी नही हूँ तो मैंने कहा लेकिन हमारे बीच रिश्ता तो है भरोसे का और इतना ही काफी है और फिर से उसे किस करना शुरू कर दिया | अब वो भी किस करने में साथ दे रही थी | हाय क्या बताऊँ दोस्तों कितना मज़ा आ रहा था उसको किस करने में | मैंने नीचे से उसके टॉप में हाँथ डाला और उसके पेट पर हाँथ फिराने लगा | उसको अब जोश चढ़ने लगा था और वो हलकी हलकी सिस्कारियां भी भर रही थी तो मैंने उसका टॉप ऊपर किया तो उसने मुझे रोक दिया और कहा नही अभी नही | ये सुनकर मेरा दिमाग ख़राब हो गया मेरा मन हो रहा था कि उसको चिल्ला दूँ लेकिन मेरे अन्दर से एक और आवाज़ आई और उसने मुझे कहा नही बेटा ऐसा नही करना वरना अभी थोडा मनाने पर तो ये मान भी जाएगी लेकिन चिल्लाने के बाद कुछ नही मिलेगा अपने हाँथ से अपना ही हिलाना पड़ेगा तो मैंने उससे कहा अच्छा चलो अपने बारे में बातें करते है | उसने कहा पहले अपने बारे में कुछ बताओ तो मैंने अपने बारे में 4-5 बातें बताई और उसके बाद जो वो अपने बारे में चालू हुई है रात के 12 बजे से 1:30 बज गया और इतना बताने के बाद भी बोलती है और भी बहुत कुछ है मेरे बारे में लेकिन तुम्हारे लिए थोडा ही काफी है | ये सुनकर मेरी गांड फट गई मैंने सोचा कहीं ये फिर से ना चालू हो जाये तो मैंने फिर से उसको किस करना शुरू कर दिया |

अब मैंने किस करते करते उसके दूध पर हाँथ रखा और किस भी करता रहा और दूध भी दबाता भी रहा | फिर हम रुके और मैंने कहा मुझे ये देखना है अभी अभी और इसी तरह ज़िद करने लगा | तो उसने भी अपना टॉप उतारा और पीछे से ब्रा खोलकर उतार दी | उसके दूध गज़ब के थे जैसे ही उसने अपनी ब्रा उतारी मैंने उसके दूध पकड़ लिए और दबाने लगा | मैंने उसके दूध बहुत दबाये और चूसे भी | फिर मैंने अपनी पैंट उतार दी और लंड बाहर निकाल कर कहा ये तुम्हारा है ले लो | उसने फिर मेरा लंड पकड़ा और हिलाने लगी | वो धीरे धीरे मेरा लंड हिला रही थी तो मैंने उससे कहा अरे चूसो भी तो उसने लंड मुंह में लिया और चूसने लगी | वो मेरे लंड का बस आगे का हिस्सा ही चूस रही तो मैंने उसका सर पकड़ा और उसके मुंह को चोदने लगा | मैं अपना लंड पूरा अन्दर तक डाल के उसके मुंह को चोद रहा था तभी मेरा माल उसके मुंह में ही झड गया | उसने अपनी जेब में से रुमाल निकला और अपना मुँह साफ़ करने लगी | फिर मैंने उसको खड़ा किया और उसकी जीन्स को खोलने लग गया | मैंने उसकी जीन्स उतारी और पैंटी में उसको बिस्तर पर धक्का दे दिया | मैं जाके उसके बाजू में लेट गया और उसकी चूत सहलाने लगा | उसकी पैंटी गीली हो रही थी और मैं बड़े प्यार से उसकी चूत सहलाये जा रहा था | फिर मैंने उसकी पैंटी उतार दी और उसकी चूत देखने लगा |

उसकी चूत के ऊपर थोड़े थोड़े बाल थे और देखकर साफ़ समझ में आ रहा था कि ये पहले भी चुद चुकी है लेकिन अपने को क्या अपने को तो सिर्फ माल निकालना है | मैंने उसकी चूत पे फिर से हाँथ फिराना शुरू कर दिया और वो अपने दूध दबाते हुए ऊम्म्म्मम्म उम्म्मम्म्म्म उम्म्म्मम्म अह्ह्हह्ह्ह्हह्ह ह्ह्ह्हह्ह्ह्हह्ह ऊउम्मम्म ऊम्म्मम्म्म्म करती रही | फिर मैंने उसकी चूत में ऊँगली डाली और धीरे धीरे ऊँगली करने लगा | थोड़ी देर बाद वो कहने लगी अब डाल दो कुनाल देर मत करो तो मैंने कहा तुम तो बोल रही थी ये सब नही करना, तो उसने कहा बोल सब भूल जाओ बस डाल दो | तो मैंने अपने लंड के ऊपर थूक लगाया और उसकी चूत के छेद पर रगड़ने लगा | वो मचल रही थी और ऊम्म्म्मम्म उम्म्म्मम्म्म्म उम्म्मम्म्म्म उम्म्म्मम्म म्मम्मम्मम्म म्मम्मम्मम उम्म्मम्म ह्ह्ह्हह्ह्ह्ह ह्ह्ह्हह्ह्ह्हह्ह कर रही थी | फिर मैंने उसकी चूत में लंड डाल दिया और उसको चोदना शुरू कर दिया | जैसे ही मैंने उसकी चूत में लंड डाला तो उसको एकदम से जैसे तस्सली मिल गई | मैं उसकी चूत में लंड अन्दर बाहर कर रहा था और वो आह्ह्हह्ह्ह्ह अह्ह्ह्हह्ह्ह्ह अह्ह्हह्ह्ह्ह ह्ह्ह्हह्ह्ह्ह ह्ह्ह्हह्हह्ह्ह ह्ह्ह्हह्ह्ह्ह आआआआअ अह्ह्ह्हह्ह अह्ह्हह्ह्ह्हह्ह अह्ह्ह्हह्ह्ह्ह कर रही थी जैसे मुझसे ज्यादा मज़ा उसको आ रहा है फिर भी मैं उसे चोदने में लगा हुआ था |

फिर मैंने उसको घोड़ी बना दिया और पीछे से उसकी चूत में लंड डालकर उसकी चूत मारने लगा | वो आह्ह्हह्ह्ह्ह अह्ह्ह्हह्ह्ह्ह अह्ह्हह्ह्ह्ह ह्ह्ह्हह्ह्ह्ह ह्ह्ह्हह्हह्ह्ह ह्ह्ह्हह्ह्ह्ह आआआआअ अह्ह्ह्हह्ह अह्ह्हह्ह्ह्हह्ह अह्ह्ह्हह्ह्ह्ह कर रही थी | थोड़ी देर बाद मेरा माल झड गया और मैंने सारा माल उसकी गांड के छेद के ऊपर गिरा दिया | फिर हम दोनों बिना कुछ बोले सो गए और अगले दिन सुबह मैंने उसको उसके घर छोड़ा और मैं अपने रूम चला गया | उसके बाद से आज एक महीना हो गया है और वो मुझे कहीं मिली भी नहीं और उस दिन मैं उसका नंबर भी लेना भूल गया था | खैर जब भी मिलेगी फिर चुदाई करेंगे | तो दोस्तों कैसी लगी आपको मेरी कहानी |


(0) Likes (0) Dislikes
455 views
Added: Friday, March 9th, 2018
Added By:
Vote This:        

Your Vote

×
Comments
Sponsors
loading...
Search Site
Share With Us
Random Video
Facebook
Sponsors
loading...
Our Pages
Sponsors
loading...
Sponsors
loading...