Sponsors
loading...
ट्रेनिंग के दौरान चुदाई

नमस्कार दोस्तों, कैसे हैं आप सभी ? मैं आशा करता हूँ कि आप सभी अच्छे होंगे | मेरा नाम आशीष है और मैं केरल का रहने वाला हूँ | मेरी उम्र 28 साल है और मैं एक सॉफ्टवेर इजीनियर हूँ | मैं दिखने में सांवला हूँ और मेरी कद काठी दोनों अच्छी है | मेरी हाईट 5 फुट 11 इंच है और मेरा शरीर फिट है | दोस्तों मैं फ्री हिंदी सेक्स स्टोरीज का बहुत बड़ा फैन हूँ और मुझे चुदाई की कहानियां पढना बेहद पसंद है | आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी पेश करने जा रहा हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की सच्ची घटना है | मैं उम्मीद करता हूँ कि आप लोगो को मेरी कहानी जरुर पसंद आयगी | तो अब मैं आप लोगो का समय ना लेते हुए अपनी कहानी शुरू करता हूँ |

ये घटना कुछ समय पहले की है | वैसे मेरे घर में, मैं हूँ और मेरे अलावा मेरे मम्मी पापा हैं | मेरे एक बड़े भैया हैं जिनकी शादी हो चुकी है | हम सभी साथ में रहते हैं | मैं जिस कंपनी में काम करता हूँ वहां मेरी इमेज बहुत अच्छी है और कंपनी वालो का मेरा काम पसंद है क्यूंकि मेरे काम में कोई गलती नहीं होती | मैं जब भी काम करता हूँ पूरे मन और ध्यान से काम करता हूँ | शुरू शुरू में मुझे काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा था लेकिन अब सब ठीक है और फ़िलहाल ऑफिस में मेरे प्रमोशन की बात भी चल रही है | मैं अपनी जॉब से खुश हूँ | एक दिन की बात है मैं अपने केबिन में बैठा हुआ था तभी मेरे पास चपरासी एक एन्वेलप ले कर आया | मैंने उससे पूछा कि क्या है इसमें ? तो उसने कहा साहब मुझे नहीं पता | आप खुद देख लेना | इतना कह कर वो चला गया | फिर मैंने एन्वेलप खोल कर देखा उसमे लैटर था और उसमे लिखा हुआ था कि आपको ट्रेनिंग के लिए बैगलोर जाना होगा | ये सुन कर मैं खुश हुआ और सीधा अपने बॉस के पास गया | मैंने उनसे पूछा सर क्या ये मेरे प्रोमोट होने के चांसेस हैं ? तो सर ने कहा हाँ आशीष हो सकता है इसलिए तुम्हे ट्रेनिंग के लिए बेंगलोर भेजा जा रहा है | फिर वापस आ कर मैंने अपने घर में ये खुशखबरी में बताया तो वो भी मेरी और मेरे काम की तारीफें कर रहे थे | मेरी ट्रेनिंग करीब एक हफ्ते तक चलने वाली थी | फिर वो दिन भी आ गया जब मुझे बेंगलोर के लिए निकलना था | जहाँ पर हमारी ट्रेनिंग होनी थी वो बहुत ही शानदार होटल में थी और हमारे रुकने के लिए काफी अच्छी व्यवस्था थी और हम जितने भी वहां ट्रेनिंग के लिए गए हुए थे सभी को कंपनी की तरफ से डीलक्स रूम प्रोवाइड कराये गए थे | हमारी कंपनी से मैं एक था और बाकी दूसरी दूसरी कंपनी से आये हुए थे | उस समय शुरुआत में हम एक दूसरे को नहीं जानते थे लेकिन ट्रेनिंग के पहले दिन से हम घुल मिल गए | दिल्ली से एक बंदी आई थी जिसका नाम ऐश है | वो बहुत सिंपल सी लड़की है लेकिन जितनी वो सिंपल है उतनी ही सुन्दर और सेक्सी भी है | लंच के टाइम हम सभी होटल के रेस्टोरेंट गए और हम सभी एक दुसरे को अपनी जान पहचान कराने लगे | ऐश ने जब अपने बारे में बताना शुरू किया तब कुछ लड़के उसकी तरफ हवस भरी निगांहो से देख रहे थे | मुझे ये बिलकुल भी पसंद नहीं आया | ये बात शायद ऐश ने भी नोटिस किया था | लंच करने के बाद फिर से हमारी ट्रेनिंग शुरू हुई और फिर हम वहां से करीब शाम के 6 बजे फ्री हुए | उसके बाद हम सभी अपने अपने रूम जाने लगे थे कि मेरी नजर ऐश पर पड़ी | वो रूम जाने की जगह रेस्टोरेंट जा रही थी | मैंने सोचा कि मैं भी वहां जा कर एक कप कॉफी पी कर आता हूँ | जब मैं वहां पंहुचा तो ऐश भी कॉफी पी रही थी |

मैं उसे हाय कहा और उसके पास ही बैठ गया | उसने भी हाय में रिप्लाई दे कर बात करना शुरू कर दी | कॉफी पीते पीते हम दोनों में काफी बात हो गई और कॉफी खत्म होने के बाद हम दोनों साथ में ही वहां से निकल कर अपने अपने रूम चले गए | रात को करीब 9 बजे मुझे भूख लगी तो मैं खाना खाने के लिए नीचे आने लगा तो ऐश भी अपने रूम से निकल ही रही थी | फिर हम दोनों ने साथ में डिनर किया और बाकी लोग ड्रिंक कर रहे थे | हम बस खाना खा कर अपने रूम में आने लगे तो ऐश ने मुझसे कहा अगर तुम फ्री हो तो मेरे रूम में आ सकते हो | इसी बहाने हमारी दोस्ती और भी गहरी हो जायगी | मुझे उसका ये आईडिया पसदं आया तो मैंने कहा ठीक है | फिर हम दोनों उसके रूम में गए और उसने बैठने का इशारा कर के आलमारी से एक शराब की बोतल निकाल ली | ये देख कर मैं हैरान हो गया और उससे कहा कि तुम इतनी सिम्पल और सीधी लगती हो और तुम्हे ये भी शौख है | तो उसने कहा हाँ मैं कभी कभी ले लेती हूँ | उसने फिर नीचे फ़ोन कर के कहा कि कुछ स्नैक्स का आर्डर दिया | थोड़ी ही देर में स्नैक्स भी आ गया | अब हम दोनों ड्रिंक करते हुए अपने बारे में हर चीज़ शेयर करने लगे | 4 पेग पीने के बाद हम दोनों काफी नशे में हो गए और मैंने उससे कहा कि यार अब मुझे अपने रूम जाना चाहिए मुझे नशा हो गया है | तो ऐश ने कहा कि आज रात तुम यहीं रुक जाओ कल सुबह होते ही चले जाना | मैंने कहा ठीक है | रात को करीब मेरी 1 बजे के आस पास नींद खुली तो मैंने देखा कि मैं पूरा नंगा लेता हूँ और ऐश भी नंगी हो कर मेरी जांघ को सहला रही है | मुझे उसका ऐसा करना अच्छा लग रहा था तो मैंने उसे रोका नहीं | फिर वो मेरे लंड को हाँथ में ले कर हिलाने लगी तो मैंने तुरंत ही उसके हाँथ पकड़ कर अपनी तरफ खींचा और उसके होंठ के रस को चूसने लगा | वो भी मेरा साथ देते हुए मुझे किस करने लगी और मेरे बदन को सहलाने लगी | मैं भी उसके बदन से खेल रहा था | फिर मैंने उसके मम्मे को अपने हाँथ में ले कर दबाने लगा और निप्पलस को भी खींचने लगा तो उसके मुंह से आःह्ह्ह अह्ह्हह्ह्ह्हह्ह अह्ह्हह्ह्ह्हह्ह उम्म्मम्म्म्म उम्म्मम्म्म्म उम्म्मम्म्म्म की आवाज़ निकलने लगी | फिर मैंने उसके मम्मो को अपने मुंह में डाल कर बारी बारी से चूसने लगा तो वो आःह्ह्ह अह्ह्हह्ह्ह्हह्ह अह्ह्हह्ह्ह्हह्ह उम्म्मम्म्म्म उम्म्मम्म्म्म उम्म्मम्म्म्म करते हुए मेरे सिर के बालो को सहलाने लगी |

मैं उसके दूध को जोर जोर से मसलते हुए चूस रहा था और वो आःह्ह्ह अह्ह्हह्ह्ह्हह्ह अह्ह्हह्ह्ह्हह्ह उम्म्मम्म्म्म उम्म्मम्म्म्म उम्म्मम्म्म्म करते हुए सिस्कारिया ले रही थी | उसके बाद वो मेरी छाती को चूमते हुए लंड पर आ गई और मेरे लंड पर अपनी जीभ रगड़ते हुए चाटने लगी तो मेरे मुंह से आःह्ह्ह अह्ह्हह्ह्ह्हह्ह अह्ह्हह्ह्ह्हह्ह उम्म्मम्म्म्म उम्म्मम्म्म्म उम्म्मम्म्म्म की सिस्कारिया निकलने लगी | लंड चाटने के बाद उसने लंड को अपने मुंह में ले कर चूसने लगी और मैं आःह्ह्ह अह्ह्हह्ह्ह्हह्ह अह्ह्हह्ह्ह्हह्ह उम्म्मम्म्म्म उम्म्मम्म्म्म उम्म्मम्म्म्म करते हुए उसके मुंह की चुदाई करने लगा | उसके बाद मैंने उसे बिस्तर पर लेटा कर उसकी टाँगे चौड़ी कर दिया और उसकी चूत को चाटने लगा तो वो आःह्ह्ह अह्ह्हह्ह्ह्हह्ह अह्ह्हह्ह्ह्हह्ह उम्म्मम्म्म्म उम्म्मम्म्म्म उम्म्मम्म्म्म करते हुए मचलने लगी | उसकी चूत चाटने के बाद मैंने उसकी चूत को लंड से सहलाया और अन्दर डाल दिया और चोदने लगा तो वो आःह्ह्ह अह्ह्हह्ह्ह्हह्ह अह्ह्हह्ह्ह्हह्ह उम्म्मम्म्म्म उम्म्मम्म्म्म उम्म्मम्म्म्म करते हुए अपने दूध अपने दबा रही थी | फिर मैंने अपनी चुदाई की स्पीड बढ़ा दिया और जोर जोर से चोदने लगा तो वो भी आःह्ह्ह अह्ह्हह्ह्ह्हह्ह अह्ह्हह्ह्ह्हह्ह उम्म्मम्म्म्म उम्म्मम्म्म्म उम्म्मम्म्म्म करते हुए अपनी गांड उठा उठा कर चुदाई में साथ दे रही थी | उसे चुदाई में बहुत मजा आ रहा था और मैं भी जोर जोर से उसकी चुदाई कर रहा था | पूरे कमरे से फच फच की आवाज आ रही थी | 20 मिनट की चुदाई के बाद मैंने अपना वीर्य उसकी चूत के ऊपर ही छोड़ दिया | थोड़ी देर बाद मेरा लंड फिर खड़ा हो गया तो फिर से मैंने उसकी चुदाई की | उस रात हमने 3 बार चुदाई की थी | जब तक हमारी ट्रेनिंग थी तब तक हमने एक भी चुदाई का मौका नहीं छोड़ा | ट्रेनिंग के खत्म होने के बाद मैं वापस अपने शहर आ गया | हमारी अब सिर्फ फ़ोन पर ही बात होती है और फ़ोन पर चुदाई कर के एक दुसरे को संतुष्ट करते हैं |

तो दोस्तों, ये थी मेरी कहानी | मैं उम्मीद करता हूँ कि आप लोगो को मेरी कहानी जरुर पसंद आई होगी |


(0) Likes (0) Dislikes
292 views
Added: Saturday, February 24th, 2018
Added By:
Vote This:        

Your Vote

×
Comments
Sponsors
loading...
Search Site
Share With Us
Random Video
Facebook
Sponsors
loading...
Sponsors
loading...
Sponsors
loading...