Sponsors
loading...
बुर की आग की घातक कहानी

kamukta नमस्ते दोस्तों, मेरा नाम पारवती है और मैं सतना की रहने वाली हूँ | मेरी उम्र 34 साल है और मैं एक शादीशुदा महिला हूँ | मेरा रंग गोरा है और मेरा फिगर भी गदराया हुआ है | मेरे बूब्स और मेरी गांड दोनों ही परफेक्ट साइज़ के हैं | मेरे घर में मैं हूँ और मेरे पतिदेव मुंबई में रहते हैं और वो वही जॉब करते हैं | मेरा एक 8 साल का बेटा है | मेरे सास ससुर अक्सर बीमार ही रहते हैं | मैं ही उनकी देखभाल करती हूँ | दोस्तों, घर में मुझे चुदाई तो नहीं मिल पाती थी जिस वजह से मैं रोज चुदाई की कहानिया पढ़ती और अपनी चूत में लगी हुई आग को बुझाती | मैं चुदाई की कहानिया दो साल से पढ़ रही हूँ और मुझे चुदाई की कहानिया पढने में आता है वो ब्लू फिल्म देखने में नहीं आता | ब्लू फिल्म में तो बस कास्टिंग होती है पर चुदाई की कहानिया एक दम सच्ची कहानी होती है | दोस्तों जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी लिखने जा रही हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की सच्ची घटना है | मैं सोचती हूँ कि आप सभी को मेरी ये कहानी जरुर पसंद आयगी | अगर इस कहानी में आप लोगो को कोई गलती नजर आती है तो कृपया मुझे माफ़ करना | तो मैं आप लोगो का ज्यादा समय ना लेते हुए अपनी कहानी पर आती हूँ |

ये घटना चार महीने पहले की है | मैं घर में अपने सास ससुर के कपडे भी धोती हूँ और लगभग सारे काम मैं ही करती हूँ | मैं काम में इतना व्यस्त रहती हूँ कि मुझे तब चुदाई के बारे में सोचना नहीं पड़ता लेकिन जब मैं फ्री होती हूँ तो मुझे बस ऐसा लगता है कि कोई भी मुझे चोद दे तो मैं अपनी चूत को खोल कर उसका स्वागत करू | तभी एक दिन मैं छत में टहल रही थी तो मैंने देखा कि एक लड़का जिसका नाम राजेश है और वो करीब 20 साल का जवान लड़का है | वो अपने कमरे में मुठ मार रहा था | उसका घर मेरे घर के सामने ही है और उस समय उसके कमरे की खिड़की खुली थी | मैं ये सब देख कर उत्तेजित होने लगी | मेरे अन्दर एक सिहरन सी दौड़ गई जब मैंने उसका लंड देखा जो कि मेरे पति से काफी बड़ा और मोटा है | मैं भी उसे मुठ मारते हुए देखने लगी और मेरा हाँथ खुद ब खुद मेरी चूत पर चला गया और मैं अपनी चूत सहलाने लगी | कुछ देर बाद मैंने बिलकुल कण्ट्रोल खो दिया और खड़े खड़े ही झड़ गई | मैंने जब उसके खिड़की की तरफ देखा तो वो मुझे ही देख रहा था | ये देख मैं चौंक गई और तुरंत ही नीचे आ गई | अब मेरे मन में राजेश के प्रति प्यार बढ़ने लगा और मैं उससे चुदवाने के बारे में सोचने लगी | फिर एक दिन राजेश मेरे घर आया तो मैं पहले तो थोडा शर्मा गई और मैंने पूछा कि हाँ राजेश कहो | तो उसने कहा कि भाभी आपसे कुछ बात करनी है | तो मैंने उसे अपने कमरे में ले गई | उस समय मेरा बेटा स्कूल गया हुआ था और सास ससुर अपने कमरे में थे | जब हम कमरे में पंहुचे तो उसने कहा कि आप से बात तो करनी है पर शर्मा रहा हूँ कहने में | तो मैंने कहा कि शरमाओ नहीं बोल दो जो भी बोलना है | तो उसने कहा कि आपने उस दिन मुझे मुठ मारते हुए देखा | आप मेरे घर में तो नहीं बताओगे न ? तो मैंने कहा कि नहीं मैं तुम्हारे घर में बोलोंगी कुछ | मैं सोच रही थी कि इसने मुझे अपनी चूत सहलते हुए देख लिया होगा पर इसने नहीं देखा | मैंने उससे कहा कि ठीक है कोई बात नहीं | वैसे एक बात पूछू ? तो उसने कहा हाँ पूछिए | तो मैंने पूछा कि क्या तुम रोज मुठ मारते हो ? तो उसने कहा कि हाँ | फिर मैंने पूछा कि यार इतनी मुठ मारते हो तुम्हारे सेहत में अच्छा असर होता होगा | तो उसने कहा कि मेरी गर्लफ्रेंड नहीं है और मुझे चुदाई की बहुत इच्छा होती है | पर क्या करू मुठ मार के ही काम चलाना पड़ता है | तो मैंने कहा कि अगर मैं तुम्हारे लिए चूत का बंदोबस्त करा दूं तो क्या तुम मेरा एक काम करोगे ? तो उसने कहा हाँ करूँगा | मैंने उससे कहा कि मुझे तुम्हरा लंड चाहिए | ये बात सुन कर वो बहुत खुश हो गया | फिर मैंने उसके होंठ में अपने होंठ रख दिए और किस करने लगी | वो भी मेरा साथ देते हुए मेरे होंठ को किस करने लगा | उसके बाद मैंने उसके पेंट को उतार दिया और अंडरवियर उतार कर उसके लंड को अपने हाँथ से हिलाते हुए जीभ से उसके लंड को चाटने लगी तो उसके मुंह से आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह की सिस्कारिया निकलने लगी |

उसके लंड को चाटने के बाद मैंने उसके लंड को अपने मुंह में ले कर चूसने लगी तो वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए मेरे मुंह को चोदने लगा | फिर उसने मेरे कुर्ते को उतार दिया और ब्रा भी खोल दिया | अब वो मेरे दूध को जोर जोर से मसलने लगा और चूसने लगा तो मेरे मुंह से आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह की सिस्कारिया निकलने लगी | वो मेरे दूध को जोर जोर से मसलते हुए चूस रहा था और निप्पलस भी चूस रहा था और मैं आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए आंहे भर रही थी |

फिर उसने मुझे लेटा दिया और मेरे पायजामा को भी उतार दिया और मेरी पेंटी को उतार दिया | मेरे दोनों पैरो को फैला कर मेरी चूत को चाटने लगा तो मैं आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए कसमसाने लगी | वो मेरी चूत को चाटने के साथ साथ ऊँगली से भी चोद रहा था और मैं आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए सिस्कारिया ले रही थी | उसके बाद उसने अपने लंड को मेरी चूत में डाल दिया और चोदने लगा मेरे दूध को मसलते हुए तो मैं आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए चुदवाने लगी | वो मुझे जोर जोर से चोद रहा था और मैं आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए चुदाई में उसका साथ दे रही थी | करीब 45 मिनट तक उसने मुझे चोदा और फिर मेरे मुंह में झड गया | उसके बाद वो चला गया | उसके बाद मैंने उससे कहा कि तुम रात में आना सोने के बाद | वेओ करीब रात को 11 बजे मेरे घर आया और फिर से मुझे चोदा | अब मेरी चूत को सिर्फ उसका ही लंड पसंद आता है और अब जब मैं अपने पति से चुद्वाती हूँ तो मुझे मजा नहीं आता | उसने मुझे काई बार चोदा और दो बार उसने मेरी गांड भी चोदा |
तो दोस्तों, ये है मेरी कहानी | मैं उम्मीद करती हूँ कि आप सभी को मेरी ये कहानी जरुर पसंद आई होगी | मैं आप लोगो से वादा करती हूँ कि आप लोगो के लिए मै ऐसी ही मजेदार कहानिया लिखते रहूंगी और आप लोगो का मनोरंजन करती रहूंगी |


(0) Likes (0) Dislikes
953 views
Added: Monday, November 20th, 2017
Added By:
Vote This:        

Category: Hindi Sex Stories

Your Vote

×
Comments
  1. […] वो बोला कि तुम बिल्कुल भी घबराओ मत, में जब भी वहां पर आऊंगा तो हम साथ में मज़े करेंगे और मुझे तो तेरे बाकी सारे चक्कर के बारे में भी राज ने बाद में बताया था कि किस तरह तूने कितनों के साथ रातें बिताई थी और किस किसने तुझे चोदा है, मुझे सब कुछ पता है संध्या. उनसे बात करके में थोड़ी नर्वस हो गयी क्योंकि वो मेरा सबसे पहला बॉयफ्रेंड था जिसने मेरी सील तोड़ी थी और फिर में वहां से कुछ देर बाद अपने घर पर वापस आ गयी. बुर की आग की घातक कहानी […]

Sponsors
loading...
Search Site
Share With Us
Random Video
Facebook
Sponsors
loading...
Our Pages
Sponsors
loading...
Sponsors
loading...