Sponsors
loading...
भाभी है चुदने वाली

हेल्लो मेरे दोस्तों क्या हाल चाल है आपका मेरा नाम नीरज है और मैं उदय नगर में रहता हूँ | मैं एक बहुत ही अच्छा लड्ज्का नहीं क्यूंकि मुझे दारु और गांजा पीना बहुत पसंद है और इसलिए मेरी दोस्ती बहुत ही गंदे लडको से है | मुहे कोई कुछ भी कहे मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता क्यूंकि मुझे वही करना होता है जो अं करना चाहता हूँ | इसलिए मैंने अपने काम खुद करने का मन बना लिया है और मैं बिलकुल नहीं चाहता कि कोई उसमे किसी भी प्रकार से टांग मारे | दोस्तों मुझे चुदाई करने भी बहुत शौक है क्यूंकि मैं दिखता भी अच्छा हूँ और मेरी पर्सनालिटी गजब की है क्यूंकि मैं गयम जाता हूँ | आपको तो पता ही होगा कि दारु पीने के बाद भूख लगती है और गयम करने के बाद भी और इससे खाना अच्छा हो जाता है इसलिए मेरी बॉडी मस्त है | मुझे कई लड़कियों ने र्पोपोसे किया पर मैंने सबको मना कर दिया क्यूंकि मुझे रंडी नहीं चोदना मुझे कोई मस्त लड़की या भाभी को चोदना है | दोस्तों मेरी कहानी आज इसी चीज़ पर है कि कैसे मैं अपनी पुरानी चुदाई की तमन्ना पूरी कर पाया |

पर दोस्तों मुझे कोऊ चुदाई के लिए मिल नहीं रही थी | एक लड़की थी घर के बगल में मैं उसको खूब लाइन मारता था पर वो साली जवाब ही नहीं देती थी | एक दिन मैंने उसको रोका और कहा मुझे तुमसे बात करनी है पर उसने सीधा कहा मुझे प्यार व्यार में नहीं पड़ना है | मेरा दिल उदास हो गया पर अब क्या करे ? मैं दिर से छत पर जाने लगा और उसी के घर में मुझे एक भाभी दिखी तो मैंने सोचा ये कौन है ? फिर मैंने उसके बारे में पता लगाया तो मुझे पता चला वो उसकी भाभी है | उसकी भाभी उससे भी बड़ी माल थी और उसका पति कई महीने तक घर नहीं आता था | मैंने सोचा वाह यार इसको पटा लेता हूँ | मैंने सोचा इससे बात कैसे करूँ फिर मेरे दिमाग में आईडिया आया | मैंने अपना एक कपड़ा उसकी छत पे फेक दिया और कहा सुनिए आप इसे उठा के दे दीजिये | उसने कहा जी अभी आई | जैसे ही वो आई तो मैंने कहा आप दिखे नहीं यहाँ कभी पहले | उसने कहा नहीं मैं यही रहती हूँ | मैंने कहा आप बहुत अच्छे लगते हो और अपना नंबर दे दिया और कहा अगर लगे तो कॉल करना आपसे दोस्ती करनी है | तीन बाद इ नंबर से मेरे पास कॉल आया तो मैंने सोचा ये किसका है | मैंने बात की तो वही भाभी थी और हम दोनों में बाते शुरू हो गयीं | कुछ दिन ही हुए थे और हमारी गन्दी बातें भी चालु हो गयीं और मुझे अब यकीन हो गया कि ये चुदेगी |

एक दिन उसने मुझे घर बुलाया जैसे ही मैं उसके घर में गया वो खाना बना रहा ही थी और उसके बदन के बारे में क्या बताऊँ वो बिलकुल गदराया हुआ था | मन कर रहा था कि उसे पीछे से पकड़ लूँ और उसको खूब चोदुं पर ऐसा मुमकिन नहीं लग रहा था | पर पता नहीं अचना से क्या हुआ ? मैंने सोचा ये फोन पर तो मुझे गन्दी बार करती है और मुझे अपना नंगा बदन भी दिखाती है फिर आज मेरे सामने इतर क्यूँ रही है | मैंने ऐसा सोचा और इतने में मैंने देखा मानो वो मुझे खुद अपने पास बुला रही हो | मैं समझ गया इसको चुदाई चाहिए है पर ये खुद कुछ नहीं करेगी मुझे ही सब करना पड़ेगा | उसने कई बार मुझे पीछे मुडके देखा और मैं समझ गया बाबा सही टाइम इसको मसकने का और मैं चल पड़ा उसके पीछे | वो खाना बना रही थी और मैं पीछे जाके उसकी कमर को देखने लगा | उसकी कमर को देखकर मेरा लंड खड़ा हो गया और उसके बाद मैंने उसकी कमर पे हाथ फेरना शुरू कर दिया | वो शर्म्नाने लगी और अप्मने बाल कि लट को पकड़ के कान के पाचे करने लगी |

मैंने उसको अपनी बाहों में भर लिया और उसके बाद मैंने उसे गर्दन पे किस करना शुरू कर दिया | वो भी इस चीज़ का मज़ा लेने लगी और मेरा विरोध नहीं कर रही थी | कुछ देर तक मैंने उसकी गर्दन पे किस किया और उसकी पीठ पर किस किया और उसकी कमर को भी चूमा | फिर मैं ऊपर आया और उसके पेट पर हाथ फेरते हुए उसकी गर्दन को चूमने लगा तो वो एकदम से पलट गयी और कहा बस पीछे से करोगे क्या ? उसके इतना कहते ही मैंने उसके होंठ पे एक किस कर दिया और उसके बाद उसने भी मेरा सिर पकड़ा और मुझे किस करने लगी | हम किस किये जा रहे थे और उसके साथ साथ मैं उसके दूध भी दबा रहा था और वो मेरे सीने पर अपना हाथ फेर रही थी | उसके बाद मेरे अन्दर का जोश जागने लगा और मैंने उसके कपडे उतारना चालू कर दिया | मैंने सोचा इसकी साडी पहले उतार देता हूँ पर पहले मैंने उसके ब्लाउज को उतारा और उसके बाद उसके ब्रा के ऊपर से उसके दूध को चाटने लगा | वो मेरे बाल सहलाने लगी और मुझे अपने दूध के ऊपर दबाने लगी | फिर मैंने उसकी साडी और पेटीकोट को उतार दिया और वो बस ब्रा और पेंटी में थी |

उसके बाद उसने मेरे कपडे उतार दिए और जब वो मेरे कपडे उतार रही थी तब मैंने देखा कि उसकी पेंटी पूरी गीली हो गयी थी | मैं समझ गया था कि ये प्र्रोई तरह से गरम है और तैयार है चुदाई के लिए | मैंने उसके ब्रा को उतार दिया और उसके दूध को चूसने लगा | मैंने उसके निप्पल को चूस के कड़ा कर दिया था और मैं उन्हें काटते हुए चूस रहा था | वो आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह करते हुए मेरा साथ दे रही थी और मेरा लंड मसल रही थी | उसके बाद मैंने दूध चूसते हुए उसकी चूत का रगड़ना चालु कर दिया पेंटी के ऊपर से | जैसे ही मैंने ऐसा किया वो आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह करते हुए मचलने लगी और मेरे लंड को हिलाने लगी | उसके बाद मैंने उससे कहा मेरा लंड चूसो तो वो नीचे बैठ गयी और उसके बाद उसने मेरे लंड को अपने मुंह में ले लिया | मेरा लंड खड़ा हो चुका था और जब वो चूसने लगी तो उसने मेरे टोपे को हटा दिया और सुपाडे को चाटने लगी | मैं आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह करने लगा और उसके मुंह को पेलने लगा | उसके बाद मैंने उसको किचन के प्लेटफार्म पर बैठा दिया और उसकी पेंटी को उतार दिया | उसके बाद मैंने उसकी चोट पे अपना मुंह लगा और उसकी चूत को चाटने लगा | वो आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह करते हुए मेरा साथ देने लगी और मेरे मुंह को अपनी चूत के ऊपर दबाने लगी | वो आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह करते हुए मज़े ले रही थी और उचक रही थी | मैं उसके चूत के दाने को भी चाट रहा था और वो आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह करते हुए मेरा पूरा साथ दे रही थी |

उसके बाद मैंने उससे कहा मेरा लंड फिर से चूस और उसे मेरा लंड फिर से अपने मुंह में भर लिया और मैं आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह करते हुए चुस्वाने लगा | मेरा मुट्ठ गिर गया पर फिर भी मेरा लंड खड़ा था | अब मैंने उसको फिर से प्लेटफार्म पर बैठा दिया और उसकी चूत में अपने लंड को घुसाने लगा | मैं धीरे धीरे उसकी चूत में लंड को घुसा रहा था और वो आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह करते हुए चुदवा रही थी | 10 मिनट तक मैंने उसको ऐसे ही चोदा और उसके बाद मैंने अपनी रफ़्तार में थोड़ी सी वृद्धि कर दी | मैं उसकी चूत को झटके मार मार के चोदने लगा और वो आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह करते हुए मेरा साथ देने लगी | उसने बाद मैंने उसको घोड़ी बना दिया और उसकी चूत में पीछे से लंड डाल दिया | वो आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह करते हुए चुद्वाती जा रही थी और मैं उसे कुतिया की तरह चोद रहा था | उसके बाद मैंने उसकी गांड मारी और वो रोने लगी पर थोड़ी देर बाद वो मज़े लेकर चुदवाने लगी और अब मैं उसकी जब मन करता है चोद लेता हूँ |


(0) Likes (0) Dislikes
39 views
Added: Saturday, May 5th, 2018
Added By:
Vote This:        

Your Vote

×
Comments
Sponsors
loading...
Search Site
Share With Us
Random Video
Facebook
Sponsors
loading...
Our Pages
Sponsors
loading...
Sponsors
loading...