Sponsors
loading...
मेरी चूत की आग एक अनजान ने...

हाय फ्रेंड्स, मेरा नाम सुषमा है और मैं जामनगर में रहती हूँ | मैं एक शादीशुदा महिला हूँ और मेरी उम्र 40 साल है | मैं भले ही 40 साल की हूँ पर मेरा फिगर भी आज भी गदराया हुआ है और शरीर में एक भी चर्बी वाला हिस्सा नहीं है | मैं दिखने में गोरी हूँ और मेरी हाईट 5 फुट 6 इंच है | दोस्तों आज जो कहानी मैं आप लोगो के सामने पेश करने जा रही हूँ ये मेरे जीवन की पहली कहानी है और एक दम सच्ची घटना है | मैं आशा करती हूँ कि आप सभी को मेरी पहेली कहानी जरुर पसंद आयगी | मैं आप लोगो का ज्यादा समय बर्बाद ना करते हुए अपनी कहानी शुरू करती हूँ |
sunny_leon_ (18)

मेरे घर में मेरे सास ससुर हैं और मेरे पति सरकारी नौकरी करते हैं | मेरे दो बेटे हैं एक आकाश और दूसरा अर्जुन | दोनों अभी स्कूल में हैं | दोस्तों, मैं एक बहुत ही खुशमिजाज महिला हूँ और शुरू से ही मैं बिंदास रही हूँ | मैंने कभी किसी गैर मर्द की तरफ ध्यान नहीं दिया और मैंने अपनी पहली चुदाई भी सिर्फ अपने पति के साथ की और किसी के साथ भी नहीं थी | ऐसा नहीं है कि है कि मेरे पीछे कोई कभी नहीं पड़ा | बल्कि स्कूल में मैं जब थी तब भी मेरे पीछे बहुत लड़के पड़े थे और उसके बाद जब मैं कॉलेज में गई तब भी मुझे कई प्रपोजल आये पर मैंने किसी को भी हाँ नही कहा | यहाँ तक की मेरे कॉलेज के प्रोफेसर तक ने मुझे प्रोपोस किया | पर मैंने उन्हें भी मना कर दिया | मैं कभी भी किसी को हाँ नहीं करती थी क्यूंकि मुझे सिर्फ अपनी चूत सिर्फ अपने पति के लिए बचा कर रखी थी और उनसे ही चुदवाना चाहती थी क्यूंकि मेरी चूत के असली हकदार तो वहीँ हैं | लेकिन कुछ महीने से मैं प्यासी रह जा रही थी क्यूंकि मेरे पति मुझे चोदते नहीं थे और मेरे लिए वक़्त भी नहीं निकाल रहे थे | मुझे काफी टाइम से एक लंड कि जरुरत थी पर मेरे पति का मन नहीं होता और वो जल्दी भी सो जाया करते | इस बात से मैं बहुत नाराज हुई तो मैंने अपनी चूत की प्यास कभी गाजर तो कभी मूली तो कभी भटा डाल कर बुझाई | लेकिन कब तक मैं सहती | पर किसी और से चुदवाने के बारे में सोचना मेरे लिए किसी पाप से कम नहीं था | एक दिन की बात हैं मैं सब्जी लेने बाजार गई हुई थी और जब वहां से लौट रही थी तब मैंने महसूस किआ कि एक लड़का मुझे बार बार फ़ॉलो कर रहा है | पहले मैंने उसे पलट कर देखा तो उसने अपना मुंह दूसरी तरफ कर लिया और जब मैंने फिर पलट कर देखा तो उसने मुझे देख कर स्माइल की | मुझे लगा कि शायद चोर है तो मैंने अपना पर्स अच्छे से रख लिया और जल्दी जल्दी चलने लगी | मेरा दिल जोर जोर से धड़क रहा था | लेकिन मुझे एहसास हुआ कि वो कोई चोर नहीं है बल्की मुझे पटाने के लिए मेरे पीछे आ रहा है | फिर मैं जल्दी से अपने घर गई और खिड़की से देखा कि वो लड़का मेरे घर की तरफ देख रहा था | फिर कुछ समय बाद वो चला गया | उसके अगले दिन जब मैं घर से बहार कचरा फेंकने निकली तो देखा कि वो लड़का मेरे घर के थोडा सा आगे एक टपरा है वहां पर वो खड़ा हो कर मुझे देखने लगा | उस दिन वो बड़ा ही टिप टॉप हो कर आया था और अच्छा भी दिख रहा था | मैं जल्दी से कचरा डस्टबिन में डाल कर आ गई घर | अब वो रोज मुझे देखने आने लगा और मुझे देख कर स्माइल करता | अब धीरे धीरे मेरा मन भी उससे बात करने का होने लगा और अब वो मुझे देखता तो मैं शर्मा के इग्नोर कर देती | लेकिन वो वक़्त भी आ ही गया जब एक दिन मेरे सास ससुर रिश्तेदार के घर गये और मेरे दोनों बेटे स्कूल में और मेरे पति ऑफिस में थे तब | मैंने उसे बुलाया और पूछा कि तुम मुझे रोज क्यू देखने आते हो ? तो उसने कहा कि मैं आपको पसंद करता हूँ और आपके साथ टाइम बिताना चाहता हूँ | तो मैंने उससे कहा कि मैं शादीशुदा हूँ और मेरे दो बेटे भी हैं फिर भी तुम्हे मैं कैसे पसंद आ गई | तो उसने कहा कि प्यार ऐसे ही उम्र देख कर होता है | इसकी इस बात से मैं इम्प्रेस हो गई और फिर मैंने उसे अपना मोबाइल नम्बर देते हुए कहा कि मैं सुबह से दोपहर दो बजे तक फ्री रहती हूँ | उसके बाद कॉल मत करना | उसने भी हामी भर दी | उसके बाद हम दोनों की बात होने लगी और वो काफी अच्छा लड़का है और मेरी काफी इज्जत भी करता है |
फिर एक दिन मैंने अपना मन बना लिया कि उससे मैं चुदवा कर ही रहूंगी | तो मैंने उसे अपने दिल की बात बता दी तो उसने कहा कि ठीक है कल आप मेरे घर आ सकती हो मैं यहाँ अकेले ही रहता हूँ | मुझे भी ये आईडिया अच्छा लगा तो अगले दिन ही मैं उसके घर चले गई | जब मैं उसके घर पंहुची तो उसने तुरंत ही मुझे अपनी बांहों में भर लिया और फिर मेरे होंठ में अपने होंठ रख दिए और मेरे होंठ को चूसने लगा | मैं भी उसका साथ देते हुए उसके होंठ को चूसने लगी | उसके बाद उसने मेरी साड़ी को उतार कर मेरे ब्लाउज को खोल दिया और ब्रा के ऊपर से ही मेरे उभारो को दबाने लगा तो मेरे मुंह से आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह की सिस्कारिया निकलने लगी | फिर उसने मेरे ब्रा को भी अलग कर दिया और दोनों दूध को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा तो मैं आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए उसके सिर के बालो को सहलाने लगी |

उसके बाद मैंने उसके सारे कपड़े उतार कर उसे नंगा कर दिया | जब मेरी नजर उसके लंड पर गई तो मेरी आँख फटी रह गई | उसका लंड काफी बड़ा है | मैं झट से उसके लंड को अपने हाँथ में ले कर जीभ से चाटने लगी तो वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए सिस्कारिया लेने लगा | उसके लंड को चाटने के बाद मैंने उसके लंड को अपने मुंह में ले लिया और चूसने लगी तो वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए मेरे मुंह को चोदने लगा |

फिर उसने मुझे नंगा कर के लेटा दिया और मेरी चूत को चाटने लगा तो मैं आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए उसके मुंह को दबाने लगी चूत पर | उसके बाद उसने मेरी चूत में अपना लंड अन्दर डाल कर चोदने लगा और मैं आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए मचलने लगी | फिर उसने अपनी चुदाई की स्पीड बढ़ा दिया और जोर जोर से धक्के मारते हुए चोदने लगा तो मैं भी आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए चुदाई में उसका साथ देने लगी और अपनी गांड उठा उठा कर चुदवाने लगी | करीब 20 मिनट तक उसने मुझे चोदा और मेरे मुंह पर अपना माल निकाल दिया | उसके बाद हमने एक बार और चुदाई किये फिर मैं घर आ गई | मैं अब उससे रोज चुद्वाती हूँ और अपने पति को फाॅर्स भी नहीं करती कि मुझे चोदो |
तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी |


(0) Likes (0) Dislikes
1319 views
Added: Monday, November 20th, 2017
Added By:
Vote This:        

Category: Hindi Sex Stories

Your Vote

×
Comments
Sponsors
loading...
Search Site
Share With Us
Random Video
Facebook
Sponsors
loading...
Sponsors
loading...
Sponsors
loading...