Sponsors
loading...
रानी मैं हूँ तेरा राजा आजा...

हाय गाइस, हाउ आर यू ? आई होप की आप सभी अच्छे होंगे | मेरा नाम आकांशा है और मैं बिलासपुर की रहनी वाली हूँ | मेरी उम्र 23 साल है और मेरा ग्रेजुएशन हो चुका है | मैं दिखने में गोरी हूँ और मेरी हाईट 5 फुट 6 इंच है और मेरा बदन सेक्सी है | मेरे दूध का साइज़ 28 है और मेरी कमर 34 है और और मेरे चूतड़ 36 के हैं | दोस्तों आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी लिखने जा रही हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की एक दम सच्ची घटना है | मैं उम्मीद करती हूँ कि आप लोगो को मेरी कहानी जरुर पसंद आएगी और आप सभी उत्तेजित हो जाओगे मेरी कहानी पढ़ कर | तो अब मैं आप लोगो के कीमती समय को बर्बाद नहीं करुँगी और अपनी कहानी शुरू करती हूँ |

ये घटना काफी समय पहले की है | मेरे घर में मैं और मेरे मम्मी पापा और एक छोटा भाई हैं | मेरे पापा का नाम अरविन्द है और वो प्राइवेट जॉब करते हैं | मेरी मम्मी का नाम पंखुरी है और वो हाउसवाइफ हैं | मेरा भाई रोहन अभी कॉलेज की पढाई कर रहा है | ये घटना तब की है जब मैं स्कूल में पढाई करती थी | उस समय मैं कक्षा 11वी में थी | पहले मैं बहुत ही सीधी लड़की थी लेकिन जब से मुझे ऐसी सहेलियां मिली जो बिगड़ी हुई थी तो मैं भी उनके साथ में रह कर चुदाई की कहानियां पढ़ना, चुदाई के वीडियो देखना, लडको के लंड के बारे में बात करना | ये सब मेरा चालू हो गया था | मेरी सहेलियों के बॉयफ्रेंड थे और वो उनसे चुदवाती भी थी और क्लास में बताती थी | ये सब सुन कर मैं भी बहुत उत्तेजित हो जाती तो घर आ कर अपनी चूत में ऊँगली डाल कर चोदती और जब झड़ जाती तो आराम करने लगती | सभी के तो बॉयफ्रेंड थे और सब चुदवाती भी थी बस मेरा कोई नहीं था और मैंने कभी नहीं किया था | एक दिन की बात है मैं शायद कहीं जा रही थी कि तभी एक लड़का जिसका नाम नीलेश था वो मुझे रोक कर मेरे पास आया और पूछा कि कहाँ जा रहे हो ? तो मैंने कहा कहीं नहीं रूबी मैडम के पास जा रही हूँ क्यूँ तुम्हे कुछ काम था क्या ? तो उसने कहा तुमसे कुछ बात करना थी | मैंने कहा हाँ कहो न क्या कहना है ? तो उसने कहा कि यार मुझे तुम बहुत अच्छी लगती हो और मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूँ | खाते पीते सोते जागते बस तुम ही तुम मेरी आँखों के सामने रहती हो | मैंने कहा कि यार मैं तुम्हे पसंद नहीं करती हूँ देखो मैं तम्हारा दिल नहीं तोडना चाहती लेकिन तुम मुझे पसंद नहीं हो | ये सुन कर वो उदास हो गया और उसने कहा कि मुझे एक मौका तो दो | मैंने कहा ठीक है देती हूँ एक मौका लेकिन उसके बाद भी तुम मुझे अच्छे नहीं लगे तो मैं साफ मुंह में मना कर दूँगी | तो उसने कहा ठीक है | फिर हमारी सिर्फ स्कूल में ही बात होगी न ही नंबर और न ही कुछ | फिर हमारी सिर्फ स्कूल टाइम में बात होने लगी और ये बात मैंने अपनी दोस्तों को भी बता चुकी थी | फिर धीरे धीरे वो मुझे पसंद आने लगा क्यूंकि वो मेरी बहुत केयर करता था | मेरी दोस्तों ने भी कहा कि यार अच्छा लड़का है इसको पटा के रख सही बन्दा है | फिर एक दिन मैंने खुद से ही उसको अपना नंबर दे दिया और हमारी फ़ोन में भी बात होने लगी | फ़ोन पर हम दोनों की काफी देर तक बात होती जब मेरे घर वाले सो जाते | मेरे भाई को एक बार शक भी हुआ था लेकिन मैंने ये कह कर टाल दिया कि मैं अपनी दोस्त से बात कर रही हूँ | उसके बाद बाद मैं अपने भाई के सामने कभी उससे बात नहीं की | मैं चोरी छुपे ही उससे बात करती थी | जब हमारी बात होने को तीन महीने हो चुके थे तब एक बार मैं गरम हो रही थी तो मैंने उससे चुदाई की बात करना शुरू कर दी और हमारी रोज ही चुदाई की बात होने लगी |

चुदाई की बात होते होते मैं अपनी चूत भी सहलाने लगी | फिर एक दिन मैंने उससे कहा कि मेरा घर खाली रहेगा क्या तुम मेरे घर आ सकते हो हम चुदाई करेंगे | वो भी उत्तेजित हो गया आखिर उसको एक लड़की की चूत मिलेगी | जब वो मेरे घर आया तो मैंने सबसे पहले दरवाजा बंद कर दिया | उसके बाद मेरे दिल की धड़कन तेज होने लगी और मैं पानी पीने लगी तभी वो मेरे पीछे आया और उसने मुझे अपनी बांहों में पकड़ा और मेरे होंठ में अपने होंठ रख कर मेरे होंठ को चूसने लगा | मैं भी उत्तेजित हो चुकी थी इसलिए मैं भी उसका साथ किस्सिंग में देने लगी और उसके होंठ को चूसने लगी | वो मेरे होंठ को चूसते हुए मेरे बदन से खेल रहा था और मैं उसके होंठ को चूसते हुए पेंट के उपर से ही उसके लंड को मसल रही थी | किस करने के बाद उसने मेरे टॉप को निकाल दिया और ब्रा के ऊपर से ही मेरे दूध को मसलने लगा तो मेरे मुंह से आहा ऊउंह ऊमंह आहाआ ऊम्मंह उयूंह आहाआअ ऊउम्मंह ऊउंह ऊम्नंह आह ऊम्ह की सिस्कारियां निकलने लगी | उसके बाद उसने मेरे ब्रा को भी उतार कर मुझे ऊपर से पूरा नंगा कर दिया और मेरे दूध को बारी बारी से चूसने लगा तो मैं आहा ऊउंह ऊमंह आहाआ ऊम्मंह उयूंह आहाआअ ऊउम्मंह ऊउंह ऊम्नंह आह ऊम्ह करते हुए उसके सिर के बालो को सहलाने लगी | वो मेरे मम्मो को जोर जोर से दबा कर चूस रहा था और मैं आहा ऊउंह ऊमंह आहाआ ऊम्मंह उयूंह आहाआअ ऊउम्मंह ऊउंह ऊम्नंह आह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां भर रही थी | फिर मैंने उसकी शर्ट को उतारा और उसकी छाती चूमते हुए अपने घुटनों के बल जमीन पर बैठ गई | उसके बाद मैंने उसकी जीन्स को उतारा और अंडरवियर के ऊपर से लंड को मसला फिर अंडरवियर को भी उतार दिया | वो मेरे सामने अब पूरा नंगा था | मैंने उसके लंड को अपने मुंह के पास ले जा कर जीभ से चाटने लगी तो उसके मुंह से भी आहा ऊउंह ऊमंह आहाआ ऊम्मंह उयूंह आहाआअ ऊउम्मंह ऊउंह ऊम्नंह आह ऊम्ह की आवाज़ निकलने लगी | मैं उसके लंड चाट चाट कर गीला कर रही थी और वो आहा ऊउंह ऊमंह आहाआ ऊम्मंह उयूंह आहाआअ ऊउम्मंह ऊउंह ऊम्नंह आह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां ले रहा था | फिर मैंने उसके लंड को अपने मुंह में डाला और चूसने लगी तो वो आहा ऊउंह ऊमंह आहाआ ऊम्मंह उयूंह आहाआअ ऊउम्मंह ऊउंह ऊम्नंह आह ऊम्ह करते हुए मजे लेने लगा |

मैं उसके लंड को जोर जोर से आगे पीछे करते हुए चूस रही थी और वो आहा ऊउंह ऊमंह आहाआ ऊम्मंह उयूंह आहाआअ ऊउम्मंह ऊउंह ऊम्नंह आह ऊम्ह करते हुए मेरे मुंह में अपना लंड पेल रहा था | उसके बाद उसने मेरी जीन्स को उतारा और पेंटी को भी उतार कर मुझे भी पूरा नंगा कर दिया | फिर उसने मुझे बिस्तर पर लिटाया और मेरी दोनों टांगो को खोल कर मेरी चूत को चाटने लगा तो मैं आहा ऊउंह ऊमंह आहाआ ऊम्मंह उयूंह आहाआअ ऊउम्मंह ऊउंह ऊम्नंह आह ऊम्ह करते हुए मदहोशी के आलम में झूमने लगी | वो मेरी चूत को चाटते हुए मेरे चूत के दाने को भी होंठ से दबा कर चूस रहा था और मैं आहा ऊउंह ऊमंह आहाआ ऊम्मंह उयूंह आहाआअ ऊउम्मंह ऊउंह ऊम्नंह आह ऊम्ह करते हुए उसके मुंह को अपनी चूत में दबा रही थी | मैं एक दम मदहोश हो चुकी थी | फिर उसने अपने लंड को मेरी चूत में टिकाया और एक ही धक्के में अन्दर पेल दिया और चोदने लगा तो मैं आहा ऊउंह ऊमंह आहाआ ऊम्मंह उयूंह आहाआअ ऊउम्मंह ऊउंह ऊम्नंह आह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां लेने लगी | कुछ देर धीरे धीरे चोदने के बाद उसने चुदाई की रफ़्तार बढ़ा दिया और जोर जोर से मेरी चूत की चुदाई करने लगा तो मैं आहा ऊउंह ऊमंह आहाआ ऊम्मंह उयूंह आहाआअ ऊउम्मंह ऊउंह ऊम्नंह आह ऊम्ह करते हुए अपनी कमर उठा उठा कर चुदाई में साथ दे रही थी | उसके बाद उसने मुझे घोड़ी बनाया और अपने लंड को पीछे से मेरी चूत में डाल कर कमर पकड़ कर चोदने लगा तो मैं आहा ऊउंह ऊमंह आहाआ ऊम्मंह उयूंह आहाआअ ऊउम्मंह ऊउंह ऊम्नंह आह ऊम्ह करते हुए अपनी गांड हिला हिला कर अपनी चुदाई करवा रही थी | करीब उसने मेरी चूत को आधे घंटे तक चोदा और मेरी गांड के ऊपर ही अपना माल छोड़ दिया |

तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी | मैं उम्मीद करती हूँ कि आप लोगो को मेरी कहानी जरुर पसंद आई होगी | आप सभी का मेरी कहानी पढने के लिए शुक्रिया | मैं आप लोगो के लिए ऐसी मजेदार कहानियां लिखती रहूंगी |


(0) Likes (0) Dislikes
206 views
Added: Sunday, April 15th, 2018
Added By:
Vote This:        

Your Vote

×
Comments
Sponsors
loading...
Search Site
Share With Us
Random Video
Facebook
Sponsors
loading...
Sponsors
loading...
Sponsors
loading...