Sponsors
loading...
HOT मौसी को चोदा – MAUSI KI CHUDAI

मै रियलकहानी का बहुत पुराना पाठक हु। मेरी कहानी शुरू होनें से पहले मै सभी लंडधारियों को प्रणाम करता हु और चुत की मालकिनों को नमस्कार करता हु।
मेरी हाइट 5 फुट 10 इंच है और दोस्तों के साथ घूमना मस्ती करना। पढ़ाई करना। इन सब मे ज़िंदगी बीत जाती है।
मेरी उम्र 22 साल है और मै पढ़ाई करता हु। हम लोग मुंबई मे रहते हैं, मेरे घर मे मम्मी डैडी के साथ मै और मेरी बहन रहती है।

अब मै सीधे कहानी पर आता हु।
यह कहानी मेरी ज़िंदगी की पहली और सच कहानी है। मैनें अब तक की ज़िंदगी मे कभी किसी लड़की को छुआ भी नहीं था लेकिन जब यह घटना हुई। उस टाइम मेरी उम्र 20 साल थी।
nude-indian-bhabhi

मतलब आज से 2 साल पहले की ये घटना है। मै कॉलेज गया हुआ था। मै कॉलेज से यही कोई 3:-4 बजे घर आता हु।

घर आया तो मेरी अन्नू मौसी घर आई हुई थीं। उनकी शादी को 4 साल हो गए थे। वो यहीं मुंबई के पास मे ही नासिक मे रहती हैं। मैनें मौसी को देखा तो बहुत खुश हुआ। क्योंकि उनसे मै उनकी शादी मे ही मिला था। उसके बाद कभी आना:-जाना नहीं हुआ।

एक बात यह कि वे मेरी मम्मी की सबसे छोटी बहन थीं।
मतलब आज उनकी उम्र 28 साल है।
शादी के वक़्त उनकी उम्र सिर्फ़ 24 साल थी।
Mausi ki gand ki chudai
चलो अच्छा है। मुझे भी कोई साथ टाइम साथ बितानें के लिए मिल गया था।

मम्मी नें बाद मे मुझे कहा:- अभी एक महीना तेरी मौसी यहीं घर पर ही रहनें वाली हैं। तेरे मौसा जी एक महीनें के लिए विज़िट पर गए हैं, उनके लिए गेस्ट:-रूम तैयार कर दे।

मै भी बहुत खुश था। क्योंकि मुझे भी मेरी बहन और मौसी के साथ टाइम बितानें के लिए वक्त मिल गया था। मैनें मौसी के लिए गेस्ट:-रूम खाली कर दिया और अपनी बहन के साथ मिल कर वहां साफ:-सफाई कर दी।

ऐसे ही हँसी:-मज़ाक मे कब मौसी को आए 15 दिन हो गए। मालूम ही नहीं पड़ा। फिर मेरी बहन भी अपनें हॉस्टल वापस चली गई। अब मै और मेरी मौसी दोनों ही साथ मे हँसी:-मज़ाक करते हुए रहनें लगे।

एक दिन मैनें बात ही बात मे मौसी से पूछा:- आपकी शादी को 4 साल हो गए।
आपनें बच्चे के बारे मे क्यों नहीं सोचा?
उन्होंनें उस बात को टाल दिया।
फिर कभी मैनें भी दुबारा नहीं पूछा।
मौसी और मामी की दुवांधार चुदाई
दूसरे दिन अचानक मम्मी नें कहा:- तू अपनी मौसी को बाइक पर ले जाकर कुछ शॉपिंग करवा ला।
मैनें बोला:- ठीक है। कब जाना है?
तो मौसी बोलीं:- आज शाम को चलूँगी।
मै बोला:- ठीक है। शाम को 6 बजे चलते हैं।
मम्मी की आवाज़ आई:- इतनी देर से क्यों। शाम को 5 बजे चला जा ना।
फिर मौसी भी बोलीं:- हां 5 बजे ठीक रहेगा।

मै उस दिन दोस्तो के साथ घूम कर 4 बजे घर आया।
उसके थोड़ी देर आराम करनें के बाद मौसी बोलीं:- चल मार्केट चलते हैं।
मै बोला:- चलो।

फिर हम दोनों बाइक पर चले गए।

शादी के आज 4 साल बाद भी मौसी की फिटनेंस किसी रूप की सुन्दरी से कम नहीं थी। जो भी हमे देखता। यही सोचता की मियां:-बीवी जा रहे हैं।

क्या मालूम उस दिन मौसी को ले कर मेरे दिमाग मे अलग:-अलग तरह फीलिंग्स आ रही थीं।
जब भी मै बाइक स्लो करता तो मौसी का स्पर्श पाते ही। दिल और दिमाग मे घंटी सी बजती। जैसे तैसे हम लोग दुकान पर पहुँचे।
वहां पर मौसी जी नें मौसा जी के लिए गरम कपड़े लिए, मै समझ गया कि मौसा जी आनें वाले हैं।

वहीं पर मौसी जी कपड़े मुझे पहना कर देख रही थीं। कसम से वहीं मन कर रहा था। कि मौसी जी को घर ले जाकर चोद दूँ और कसम से दिमाग मे ये बात जैसे ही आई। मै मौसी जी को घूरे जा रहा था।
बाद मे मौसी जी बोलीं:- जनाब कहां खो गए।

मुझे भी लगा कि मै पता नहीं किधर खो गया हु, मै बोला:- कहीं नहीं चला गया हु। आपकी हो गई शॉपिंग?
मौसी बोलीं:- हां चलो मुझे अभी और भी शॉपिंग करनी है।

मुझे मौसी के साथ घूमनें मे बहुत ही मज़ा आ रहा था।
उसके बाद मौसी एक लेडीज दुकान पर गईं और मुझे बाहर ही रुकनें के लिए बोलीं।

काफ़ी देर इन्तजार करनें के बाद जब मौसी नहीं आईं। तो मै दुकान के अन्दर गया, वो दुकान पर लेडीज चड्डी और ब्रा खरीद रही थीं, मुझे वहां देख कर बोलीं:- तू इधर कैसे?
मैनें कहा:- मेरा बाहर मन नहीं लग रहा था तो आ गया।
मौसी मुस्कुरा दीं।

मौसी जी नें दुकान वाले को ब्रा दिखानें के लिए कहा।

उसनें बोला:- बहन जी क्या साइज़ दूँ?
मौसी बोलीं:- 36 की दिखाओ।
मेरे भाई में मुझ विधवा बहन को चोदा
कसम से मौसी का फिगर तो दीपिका को भी फेल कर दे।
उसके बाद हम लोग घर आ गए।

मैनें मौसी को बोला:- जो लिया है मौसी। वो पहन कर तो दिखाओ।
मौसी बोलीं:- जो तेरे साथ शादी करके आएगी। वही दिखाएगी।
मै बोला:- अभी तो आप ही दिखा दो न। आप भी तो अपनी हो।
मौसी बोलीं:- तेरी मम्मी को पता चल गया ना। तो हम दोनों को दिखा देगी।

मुझे विश्वास नहीं हुआ। मौसी की यह बात सुन कर मैनें देखा कि लोहा दोनों तरफ से गरम है। हाथ सेक ही लेता हु।

मै बोला:- आप और मै ही तो हैं। बस तीसरा कौन है। बतानें वाला।
मौसी बोलीं:- क्या बात है मेरा कबीर बड़ा हो गया है।
मै बोला:- कबीर ‘का’ भी बड़ा हो गया है।
मौसी नें मुस्कुरा कर कहा:- चल आ जा रात को मेरे कमरे मे। देखती हु कितना बड़ा हो गया कबीर का।

रात को खाना खानें के लिए बैठे तो मौसी मेरे सामनें वाली सीट पर बैठी थीं। मै मौसी की पैर से पैर मिला रहा था।
मौसी हल्के से बोलीं:- थोड़ा सब्र कर। मेरे राजा। रात अपनी ही है।

रात को सबके सोनें के बाद मै बारह बजे मौसी के कमरे मे गया, वहां मौसी मेरा ही इन्तजार कर रही थीं।
अन्दर जाते ही मै मौसी के दूध मसलनें लगा।

मौसी बोलीं:- पहले बता तो। कौन सी ब्रा पहनूं।
मै बोला:- अब तो सब उतरनें वाली हैं।
मौसी हँसनें लगीं:- अच्छा मेरे राजा आ जा। अपनी मौसी के पास आ जा। और ताजा दूध पी ले। बीबी के जाने के बाद अपनी साली दिया को जमकर चोदा

मै मौसी के चूचों मे इतना घुस गया कि वहां एक ज़ोर का कट्टू कर लिया।
मौसी सिसिया बोलीं:- आह्ह। आराम से। पूरी रात अपनी ही है।

उसके बाद मैनें मौसी के एक:-एक करके सब कपड़े निकाल दिए और मौसी नें मेरे कपड़े निकाल दिए।

उसके बाद मै मौसी की चुत को चाटनें लगा। और मैनें उनकी चुत को चाट:-चाट कर लाल कर दी। मौसी की चुत नें भी पानी निकाल दिया।
।उसके बाद मौसी नें मेरे खड़े लंड को चूस:-चूस कर लोहा कर दिया।

उसके बाद मैनें लंड मौसी की चुत पर लगाया। तो मौसी बोलीं:- आराम से मेरे राजा। इस कुंए को इतनें बड़े पाइप की आदत नहीं है। घर का पाइप छोटा सा है। मै तो उसी मे पानी भर लेती हु।
मैनें कहा:- ठीक है आ जा मेरी जान। इतना पानी भरूंगा कि कभी पानी की ज़रूरत नहीं पड़ेगी।

मैनें एक ज़ोर का धक्का मारा। मौसी की चिल्लानें की आवाज़ आनें लगी:- आराम से। मेरी चुत फाड़ेगा क्या। आराम से चोद न।

लेकिन बिना सुनें मै ‘गपागप गपागप।’ लौड़ा डालता रहा और मौसी चिल्लाती रहीं:- आई। उई। उहह। आहह। मार दिया रंडवे। छोड़ दे। आई उहउई। आई आई मर गई रे। तेरी माँ को चोद। जा कर। साले।

मौसी को चोदते हुए ये गालियां और गाली के साथ मौसी को चोदनें मे बहुत मज़ा आ रहा था।
उस दिन मैनें और मौसी नें 3 बार चुदाई की।

फिर एक दिन मौसा का फोन आ गया और मै उनको छोड़नें चला गया।
मौसी को छोड़नें गया तो मौसी नें मम्मी को फोन करके मुझे वहां 5 दिन के रोक लिया।
उसके बाद मुझे मौसी नें कितनी और चुतें दिलाईं। ये अगली कहानी मे लिखूँगा।


(0) Likes (0) Dislikes
1396 views
Added: Saturday, September 16th, 2017
Added By:
Vote This:        

Your Vote

×
Comments
Sponsors
loading...
Search Site
Share With Us
Random Video
Facebook
Sponsors
loading...
Our Pages
Sponsors
loading...
Sponsors
loading...